आप बताएं, ऑड-ईवन स्कीम फिर लागू हो या नहीं

ऑड-ईवन स्कीम लागू करने से पहले जनता की राय जानने के लिए सरकार ने एक ई-मेल आईडी जारी किया है। साथ ही जनता से छह सवाल किए गए हैं। लोगों को [email protected] पर मेल के जरिए सवालों के जवाब देने हैं। 8 फरवरी तक सुझाव देने हैं।

सीएम अरविंद केरजीवाल ने कहा कि पिछला ऑड-ईवन दिल्ली की जनता ने सफल बनाया है, इसलिए अब आगे यह स्कीम लागू हो या न हो यह जनता ही बताएगी। दिल्ली की जनता की राय लेने के लिए सरकार विज्ञापन के जरिए लोगों से अपनी राय देने की अपील करेगी।

सीएम ने कहा कि ई-मेल आईडी के अलावा एक फोन नंबर भी जारी किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस पर सवाल पूछा जाएगा और हां या न में जवाब देना होगा। उन्होंने बताया कि छह सवालों के जवाब के आधार पर ही आगे इस सिस्टम को लागू करने पर विचार किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सभी एमएलए अपने अपने इलाके में चार-चार वॉर्ड में जाकर जनसभा करेंगे और इस सिस्टम पर जनता की राय लेंगे। अरविंद केजरीवाल ने कहा कि विदेशों में जहां-जहां ऑड-ईवन लागू किया गया है सभी जगह 3 से 5 पर्सेंट लोगों ने दूसरी कार खरीदी है। अब देखने वाली बात होगी कि दूसरी कार खरीदने के बारे में कितने लोग सामने आकर बात करते हैं।pollution free delhi

सीएम ने कहा कि विदेशों में ऑड-ईवन सफल नहीं रहा है, लेकिन दिल्ली की जनता से इसे सफल बना दिया है। उन्होंने बताया कि ऑड-ईवन के बाद सभी डिपार्टमेंट से बात करने पर यह साफ हुआ कि इस दौरान मेट्रो में केवल 0.4 पर्सेंट ही अडिशनल पैसेंजर्स थे। बसों में केवल 7 पर्सेंट अडिशनल पैसेंजर्स थे। इसका मतलब साफ है कि बाकी लोगों ने कार पूलिंग का यूज किया। उन्होंने कहा कि अभी पब्लिक ट्रांसपोर्ट वैसी ही है जैसे पहले थी। इस साल दिसंबर के अंत तक 3000 बसें आएंगी। उन्होंने कहा कि पीडब्ल्यूडी मिनिस्टर सत्येंद्र जैन एलिवेटेड बीआरटी का सर्वे करने मलयेशिया जा रहे हैं। इस के बाद बीआरटी पर विचार किया जाएगा।