मेच्योर महिलाएं रिलेशनशिप में नहीं करतीं ये गलतियां

रिलेशनशिप में प्यार के साथ नोंक-झोंक चलती ही रहती है। कहते हैं इससे प्यार बढ़ता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि अक्सर नोंक-झोंक का कारण बनने वाली महिलाएं एक उम्र के बाद रिलेशनशिप में आने वाली समस्याओं को बहुत ही अच्छे से हैंडल कर लेती हैं। बातों को समझना और ज्यादा रिएक्ट न करना जैसी चीजें उनकी आदतों में शुमार होती है।

रिलेशनशिप की ख्याल
ज्यादातर लोग किसी नए रिलेशनशिप में आते ही फैमिली और फ्रेंड्स से किनारा करने लगते हैं। अपने कीमती वक्त को वो फोन पर बातचीत करने, मिलने-जुलने में ही बिताना पसंद करते हैं। लेकिन इस दौरान इस बात को नहीं भूलना चाहिए कि रिलेशनशिप में आने वाले उतार-चढ़ावों में फैमिली और फ्रेंड्स ही साथ होते हैं। पुरुषों को जहां इस बात का बिल्कुल भी अहसास नहीं होता वहीं मैच्योर महिलाएं अपने हर रिलेशनशिप के बीच बैलेंस बनाकर चलना जानती हैं।
शुक्रिया अदा करना
लंबे समय से चल रहे रिलेशनशिप के अचानक से खत्म होने पर जहां पुरुष उल्टे-सीधे काम करके अपनी नाराजगी जाहिर करते हैं वहीं मेच्योर महिलाएं इस सिचुएशन को बहुत ही अच्छे से हैंडल करती हैं। पुरुष अकेला होने पर जहां ड्रिंक और ड्रग्स का सहारा लेने लगते हैं वहीं मेच्योर महिलाएं अपने अच्छे मूवमेंट्स को याद करके पार्टनर को इसके लिए थैंक यू कहना पसंद करती हैं।Matured women relation
फाइनेंशियली इंडिपेंडेंट
इस बात से कोई मतलब नहीं होता कि आपका पार्टनर कितना पैसे वाला है। फाइनेंशियली किसी पर निर्भर होना खुद की फ्रीडम को किसी दूसरे के हाथों में सौंपने जैसा होता है। मेच्योर महिलाएं पुरुषों पर डिपेंडेंट नहीं होतीं बल्कि उन्हें बहुत ही खुशी और गर्व महसूस होता है अपने पैसों को खर्च करने में।
पॉजिटिव सोच रखना
मेच्योर महिलाएं पार्टनर के पॉजिटिव चीजों को ध्यान में रखती हैं। वो हमेशा उनके द्वारा कही गई पॉजीटिव बातों को सुनना और देखना पसंद करती हैं। जिससे उन्हें एनर्जी और इंस्पीरेशन मिलती है। नेगेटिव बातों को इग्नोर करती हैं।
सपनों को पूरा करना
मेच्योर महिलाएं को विश्वास होता है कि अगर रिलेशनशिप समझदारी से चलाया जाए तो पार्टनर हर तरीके से आपकी मदद करेगा न कि आपको हर जगह, हर मौके पर कोसने का काम करेग रिलेशनशिप में यही फंडा उनके सक्सेसफुल बनने की राह में कभी आड़े नहीं आता।
खुशियों बांटना
मेच्योर महिलाओं को इस बात की समझ होती है कि हर किसी की अपनी पर्सनल लाइफ है और खुशियों को सेलिब्रेट करने का अपना तरीका। वो पार्टनर को हर वो फ्रीडम और स्पेस देती हैं जिससे रिलेशनशिप को एन्जॉय किया जा सके।
आत्म सम्मान का ख्याल
कभी पुरुष तो कभी महिला, रिलेशनशिप में अक्सर आत्म सम्मान को लेकर एक-दूसरे को ठेस पहुंचाने का काम होता रहता है। लेकिन अगर आप मैच्योर महिला के साथ रिलेशनशिप में हैं तो वो इस बात का पूरा ख्याल रखती हैं कि किसी बात को लेकर न ही उनके सेल्फ रिसपेक्ट पर कोई आंच आएं और न ही पार्टनर के।
समझती हैं प्यार का महत्व
मेच्योर महिलाएं प्यार के महत्व को समझती हैं। इसके लिए वो रिलेशनशिप में कितना वक्त हुआ है इस बात का इंतजार नहीं करती। साथ में वक्त बिताना, प्यार भरी बातें करने का वक्त नहीं तो सिर्फ आई लव यू कहकर भी उन्हें खुश किया जा सकता है।
पहचान बरकरार रखना
जब आप किसी नए रिलेशनशिप की शुरुआत करते हैं तो पार्टनर को इंप्रेस करने के लिए उसके हॉबिज और पसंद में इंटरेस्ट लेते हैं और लंबे समय तक ऐसा करने से आपकी हॉबीज भी काफी हद तक बदल जाती है। इस मामले में मेच्योर महिलाएं बहुत अलग होती हैं वो कभी भी अपनी पहचान, अपना इंटरेस्ट, अपने शौक को दूसरों के लिए नहीं बदलतीं।
पार्टनर को डिस्टर्ब न करना
मेच्योर महिलाएं समय की कीमत को भी अच्छे से जानती हैं। उन्हें पता होता है कि दूसरों का समय कितना कीमती है, उनके भी अपने ऑफिस के कई काम हैं। पार्टनर के साथ न होने, फोन न उठाने पर वो बेवजह शक नहीं करतीं, न ही उन्हें मेल और मैसेज करके परेशान करती हैं।
डिसीजन खुद लेना
मेच्योर रिलेशनशिप में पार्टनर एक-दूसरे की रिस्पेक्ट करते हैं। घर-परिवार से लेकर, शादी, बच्चे यहां तक कि फाइनेंशियली मैटर्स में भी एकमत से काम करना पसंद करते हैं। मौज-मस्ती हो, ट्रिप हो या फिर वेकेशन प्लानिंग इन सब में भी दोनों की ही राय बहुत ही मायने रखती है।
सबके सामने जाहिर न करना
मेच्योर महिलाएं अपने रिलेशनशिप को जगजाहिर करना पसंद नहीं करतीं। उन्हें इस तरह के रिलेशनशिप में न ही दिखावा पसंद होता है और न ही बातों को बढ़ा-चढ़ाकर बोलना। सबसे अच्छी बात होती है कि किसी सोशल जगह पर अगर उनका सामना किसी दोस्त या परिवार के सदस्य से हो जाए तो उस सिचुएशन को भी वो बड़े ही आराम से हैंडल कर लेती हैं।