अमरूद : संवारे बाल और निखारें त्वचा

अमरूद जिसे सर्दियों में फलों का राजा कहा जाता है। अमरूद को जामफल के नाम से भी जाना जाता है।अमरूद यानी अमृत से मीठा फल।यह एक ऐसा फल है जो आपकों खूबसूरत बनाने के साथ-साथ कई रोगों से भी निजात दिलाता है।अमरूद और अमरूद के पत्तों में कई पोषक तत्व होते है। इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट,एंटी बैक्टीरियल और एंटीइंफ्लेमेंटरी गुण कई प्रकार की स्वास्थ्य समस्याओं को दूर करने में मदद करता है।

इसके अलावा इसमें प्रोटीन,कार्बोहाइड्रेट्स,कैल्शियम,फास्फोरस,आयरन और विटामिन बी भी पाएं जाते है।

स्किन,बाल और स्वास्थ्य की देखभाल के लिए अमरूद और अमरूद की ताजी पत्तियों का रस फायदेमंद होता है।जानें,क्या है इसके फायदें?guava

स्किन और बालों के लिए

अमरूदों में विटामिन सी भरपूर मात्रा में पाया जाता है। यह बालों को दो मुंहा होने से बचाता है। यह आयरन के अवशोषण में भी सहायक होता है, जो बालों की सेहत के लिए एक महत्वपूर्ण न्यूट्रीएंट होता है।इसकी पत्तियां भी पोषक होती है जो बालों की ग्रोथ बढ़ाती है।अमरूद में विटामिन ए,बी,सी और पोटैशियम पाया जाता है जो स्किन को ग्लोइंग बनाता है। इससे समय से पहले स्किन डल नहीं पड़ती और झुर्रियां भी दूर हो जाती है। इसे खाने या स्किन पर लगाने से दोनों से बहुत फायदा मिलता है।अमरूद के साथ अंडा पीसें और चेहरे पर लगाएं, 20 मिनट बाद गर्म पानी से चेहरा धो लें। रंगत में निखार लाने के लिए गुलाबी अमरूद का उपयोग करें।मुंहासों और दाग-धब्बों को दूर करने के लिए इअमरूद की ताजी पत्तिायां पीसकर लगाएं। इस लेप को रोजाना लगाने से मुंहासे खत्म हो जाते है। अमरूद की पत्तियां एंटीसेप्टिक होती है जो बेक्टिरिया दूर करने में मदद करती है।

अमरूद के अन्य फायदें

अमरूद के बीजों को चूर्ण पानी के साथ ले सकते है। इसके पत्तों को चबाने या पत्तों का काढ़ा भी बना सकता है। रात को सोते समय अमरूद के पत्तों को पीसकर पुल्टिस बनाकर बांधने से आंखो का दर्द,सूजन और लालिमा भी दूर हो जाती है।कच्चे अमरू द को पत्थर पर घिसकर उसका लेप एक हफ्तें लगाएं।इसके ताजे पत्तों का 10 ग्राम रस और 10 ग्राम पिसी मिश्री को मिलाकर 21 दिन सुबह खाली पेट लेने से भुख लगने लगती है और सौंदर्य भी बढ़ता है।