इन स्पोर्ट्स में बड़ा एडवेंचर है

गुलमर्ग (जम्मू-कश्मीर)

हिमालय की ढलानों पर जमी बर्फ सर्दियों में टूरिस्टों को खूब लुभाती है। गढ़वाल हिमालय क्षेत्र में 2,500-3,000 मीटर ऊंचाई पर स्थित औली की चमकदार सफेद ढलानें तो अपनी खूबसूरती से एशिया के बेहतरीन स्कीइंग स्लोप्स में शामिल हैं। ट्रेक द हिमालय इंस्टिट्यूट एडवेचर गेम्स में रुचि रखने वालों के लिए स्कीइंग के रोमांचक पैकेज का आयोजन कर रहा है जिसमें स्कीइंग के जानकार ही नहीं, नौसिखिया लोग भी मजा लेते हैं। इस साल औली में 21 जनवरी से 3मार्च तक 6-6 दिन के 8 सर्टिफिकेट कोर्स भी होंगे। 10-15 फरवरी को औली में नैशनल जूनियर स्कीइंग चैम्पियनशिप भी होगी, जिसमें देश भर के बच्चे हिस्सा ले सकते हैं। इसके अलावा यह इंस्टिट्यूट ‘विंटर कुआरी पास’ ट्रेकिंग अभियान भी चला रहा है। 6-6 दिन के ये ट्रेकिंग अभियान 3-12 जनवरी, 23-31 मार्च तक चलेंगे।

नजदीकी रेलवे स्टेशन: हरिद्वार, नजदीकी एयरपोर्ट: देहरादून

औली (उत्तराखंड)

धरती का स्वर्ग कहे जानेवाला जम्मू-कश्मीर अपनी खूबसूरती के अलावा विंटर एडवेंचर गेम्स का भी गढ़ माना जाता है। विंटर गेम्स में दिलचस्पी रखने वालों को विंटर गेम्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (डब्ल्यूजीएफआई) के 5 इंस्टिट्यूट यहां वर्ल्ड लेवल की सुविधाएं प्रदान करते हैं। इनमें इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ स्कीइंग एंड माउंटेनियरिंग (आईआईएसएम) प्रमुख है जो गुलमर्ग में स्की-प्रेमियों के लिए स्की-ट्रेनिंग कोर्स ही नहीं चलाता, स्कूल-कॉलेज के युवाओं के लिए नैशनल लेवल के कई कॉम्पीटीशन भी कराता है। इस बार भी 17 मार्च तक लगातार 14-14 दिन के स्कीइंग सर्टिफिकेट ट्रेनिंग कोर्स चल रहे हैं, जिनमें ‘पहले आओ पहले पाओ’ के आधार पर बुकिंग की जाती है। साथ ही, 17 जनवरी को ‘वर्ल्ड स्नो डे’ के मौके पर गुलमर्ग और मनाली में स्नो एडवेंचर स्पोर्ट्स इवेंट्स का आयोजन होगा, जिसमें देश भर के बच्चे हिस्सा ले सकते हैं। इसमें स्कीइंग, स्नो मॉडल मेकिंग, स्केटिंग, स्नो साइकलिंग और स्नो मोबाइल राइड्स होंगी। इसके अलावा डब्ल्यूजीएफआई फरवरी की 1-4 तारीख को गुलमर्ग में नैशनल सीनियर स्कीइंग और स्नोबोर्डिंग चैंपियनशिप कराएगा।Gulmarg

नजदीकी रेलवे स्टेशन: जम्मू, नजदीकी एयरपोर्ट: श्रीनगर
इस साल पहली बार जम्मू-कश्मीर टूरिजम पहलगाम और सनासर के बर्फीले पहाड़ों पर आने वाले टूरिस्टों के लिए स्नो-क्लाइंबिंग कैंप का आयोजन भी कर रहा है।

नजदीकी रेलवे स्टेशन: जम्मू

नजदीकी एयरपोर्ट: श्रीनगर

पहलगाम (जम्मू-कश्मीर)

सर्दियों में समय-समय पर होती बर्फबारी, दूर-दूर तक फैले मैदान, गहरी घाटियां और बर्फीले पहाड़ों की वजह से श्रीनगर से करीब 60 किमी दूर स्थित पहलगाम टूरिस्टों के आकर्षण का केंद्र बन जाता है। वे इन खूबसूरत बर्फीले पहाड़ों पर एडवेंचर गेम्स का भी मजा लेते हैं। जवाहर इंस्टिट्यूट ऑफ माउंटेनियरिंग (जेआईएम) टूरिस्टों की सुविधा के लिए यहां विंटर्स स्पोर्ट्स कराता है। इस बार 3 जनवरी से शुरू हुए 14-14 दिन के स्कीइंग कोर्स (बेसिक, इंटरमीडिएट और एडवांस) 5 मार्च तक चलेंगे। मौसम की स्थिति के हिसाब से यहां 5-10 दिन के स्पेशल एडवेंचर गेम्स भी कराए जाते हैं।
ठिठुरती ठंड में बर्फ से ढके पहाड़ों पर एडवेंचर गेम्स का अपना ही रोमांच है, खासकर स्कीइंग, आइस स्केटिंग और स्नो बोर्ड सर्फिंग जैसे गेम्स। देश में औली, गुलमर्ग जैसी जगहें इनके बेहतरीन अड्डे बन चुके हैं। यहां विभिन्न संस्थान 10-15 दिन के कोर्स चलाती हैं, जिनमें इन गेम्स की ट्रेनिंग भी दी जाती है। ट्रेनिंग के बाद आप बिना किसी डर के इनका मजा ले सकते हैं। ऐसे ही कुछ विंटर एडवेंचर गेम्स और उनसे जुड़ी संस्थाओं के बारे में बता रही हैं